कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi

दोस्तों rahultechnoweb पर आपका तहे दिल से अभिनंदन हैं इस पेज पर आप लोगों को कमर के दर्द दूर करने के उपाय को विस्तार से पढ़कर अपना कमर दर्द दूर कर सकते हैं।

आज के समय में कमर के दर्द होना एक बड़ी समस्या बन गयी है लोग ना जाने कौन कौन माध्यमों से कमर का दर्द  दूर  करने का तरीका बता रहे हैं लेकिन उससे आपको कोई फायदा नही हो रहा है  और नुकसान ज्यादा से ज्यादा  हो रहा  है कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi कुछ लोग तो केवल पैसे कमाने के लिए कमर के दर्द दूर करने  की दवाइयाँ बेंच रहे हैं ।  जिनका कोई फायदा नहीं हो रहा है ।

और हा हम इस पोस्ट में वैसा नहीं बताएंगे , हम इस पोस्ट में आपको कुछ जबरदस्त नुक्से बताने वाले हैं ।

जो आपको फायदा को छुड़ाय नुकसान नही होगा।

नीचे दिये गये तरीको से कमर दर्द को दूर कर सकते हैं ,इन तरीको का इस्तेमाल रोजाना करके आप अपनी कमर दर्द दूर कर सकते हैं  यदि इन तरीको का इस्तेमाल अच्छे से किया तो अपने  कमर का दर्द अवश्य दूर हो जाएगी ।

कमर दर्द कई लोगों को प्रभावित करने वाली एक सामान्य समस्या है। यह दर्द कई कारणों से हो सकता है,

मांसपेशियों में तनाव: यह कमर के मांसपेशियों के तनाव के कारण हो सकता है, जो अधिक शारीरिक काम, गलत बैठने की आदत, या भारी सामान उठाने के कारण हो सकता है।

स्पाइनल प्रॉब्लम: कई स्पाइनल संबंधी समस्याएं भी कमर दर्द का कारण बन सकती हैं, जैसे कि स्लिप डिस्क, स्पाइनल स्टेनोसिस, स्कोलियोसिस, या रीढ़ की हड्डी के अलगाव का संकेत हो सकता है।

    स्ट्रेन और चोट: यदि कमर में चोट लगे या यातायात दुर्घटना के कारण तनाव पड़े, तो इससे भी कमर दर्द हो सकता है।

    स्त्री रोग: महिलाओं में कमर दर्द का कारण प्रजनन संबंधी समस्याएं भी हो सकती हैं, जैसे कि गर्भावस्था में पीठ दर्द, गर्भाशय या गर्भाशय प्रदाह, या योनि संक्रमण।

    कमर दर्द क्या है(what is back pain in hindi)

    कमर दर्द एक आम स्वास्थ्य समस्या है जो कमर की किसी भी हिस्से में बायाँ या दायाँ तरफ हो सकती है। यह एक व्यापक शब्द है जो कई तरह के दर्द को शामिल कर सकता है, (कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi)जैसे कि निम्नलिखित हो सकते हैं:

    मांसपेशियों का खिंचाव: कमर के मांसपेशियों के खिंचाव के कारण होने वाला दर्द आमतौर पर अवसाद, गलत बैठने की आदत, बार-बार झुकना, या भारी वजन उठाने के कारण हो सकता है।

    कमर की हड्डी की समस्या: कई बार कमर के हड्डी में समस्या, जैसे कि स्लिप डिस्क या स्पाइनल स्टेनोसिस, कमर दर्द का कारण बन सकती है।

    पथरी: किडनी में पथरी (किडनी स्टोन) के बनने से भी कमर में दर्द हो सकता है। यह दर्द आंत में उत्पन्न होकर कमर में तकलीफ पैदा कर सकता है।

    स्पाइनल इंफेक्शन: कई बार कमर दर्द की वजह स्पाइनल इंफेक्शन होती है, जैसे कि स्पाइनल मेनिंजाइटिस या ओस्टियोमायलिटिस।

    गर्भावस्था: महिलाओं के लिए गर्भावस्था के दौरान कमर दर्द आम हो सकता है

    कमर दर्द कैसे होता है(how does back pain in hindi)

    कमर दर्द कई तरह के कारणों से हो सकता है। यह एक आम स्वास्थ्य समस्या है जो व्यक्ति के कमर या पीठ के किसी भाग में असहनीय आघात, तनाव, या गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं के कारण हो सकता है। यह किसी भी उम्र के लोगों में हो सकता है, लेकिन ज्यादातर यह बच्चों और वयस्कों के बीच में आम है।

    कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi

    कमर दर्द के कुछ प्रमुख कारणों में निम्नलिखित शामिल हो सकते हैं:

    मांसपेशियों या नसों की समस्या: कमर दर्द का मुख्य कारण मांसपेशियों या नसों में चोट, खिंचाव, या तनाव हो सकता है। यह चोट, घाव, स्प्रेन, या उच्च शारीरिक श्रम के कारण हो सकता है।

    पीठ की बोन समस्याएं: पीठ की हड्डी के बीच दबाव, संक्रमण, हड्डी में सूजन, बोन इंफेक्शन, या ऑस्टियोपोरोजिस की समस्या के कारण भी कमर दर्द हो सकता है।

    स्लिप डिस्क: अगर किसी व्यक्ति की रीढ़ की हड्डी के बीच में किसी डिस्क की चपेट में दरार पड़ जाती है, तो यह कमर दर्द का कारण बन सकता है।

    कमर दर्द होने के कारण(how does back pain in hindi)

    कमर दर्द कई अलग-अलग कारणों से हो सकता है। यहां कुछ सामान्य कारण दिए गए हैं:

    मांसपेशियों का खिंचाव: अगर आपके कमर के मांसपेशियों में खिंचाव हो रहा है, तो यह कमर दर्द का मुख्य कारण हो सकता है। यह खिंचाव बाएं या दाएं पैर को घुमाने, भारी वजन उठाने, गलत तरीके से झुकने आदि कार्यों के कारण हो सकता है।

    स्पाइनल संबंधी समस्याएं: कमर दर्द का एक आम कारण स्पाइनल संबंधी समस्याएं हो सकती हैं, जैसे कि दिस्क स्लिप, स्पाइनल स्टेनोसिस (रीढ़ की हड्डी की संकोचन), स्पाइनल इंफेक्शन आदि।

    किडनी समस्या: किडनी स्टोन, इंफेक्शन, या दर्दनीय मांस के रोग के कारण भी कमर दर्द हो सकता है।

    गर्भावस्था: महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान भी कमर दर्द हो सकता है। गर्भावस्था के संकेतों में कमर दर्द भी शामिल हो सकता है।

    स्ट्रेन और चोट: कमर में तनाव, चोट, या अवसाद के कारण भी कमर दर्द हो सकता है।

    कमर दर्द होने का लक्षण(symptoms of back pain in hindi)

    कमर दर्द (Lower back pain) अक्सर एक आम स्वास्थ्य समस्या है और विभिन्न कारणों से हो सकता है। यह एक आम लक्षण हो सकता है जो शारीरिक श्रम, बैठे रहने की गलत आदतें, असामयिक या अनुचित वाजन उठाने, मांसपेशियों के तनाव, स्पाइनल कॉर्ड या पीठ के किसी हिस्से में समस्याएं आदि के कारण हो सकता है।(कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi)

    कमर दर्द के लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं:

    1..दर्द या तनाव की अनुभूति कमर के निचले हिस्से में, सीधे या स्पीनल कॉलम के साथ संबंधित होती है।

    2.तनाव, ताकत की कमी, या अनुचित पोस्चर जैसे अन्य लक्षण भी हो सकते हैं।

    3.अधिकांश मामलों में, कमर दर्द शुरू हो जाता है और एक कुछ दिनों या सप्ताहों के भीतर स्वतः ही ठीक हो जाता है।

    4.जब यह एक गंभीर मुद्दा होता है, तो यह दर्द लंबे समय तक बना रह सकता है और रोगी की दिनचर्या और गतिविधियों को प्रभावित कर सकता है।

    कमर दर्द होने के घरेलू उपाय (home remedies for back pain in hindi)

    कमर दर्द एक आम स्वास्थ्य समस्या है जिसे कई कारणों से हो सकता है, जैसे कि मांसपेशियों की कमजोरी, दबाव, रीढ़ की हड्डी के समस्याएँ, खराब पोषण, गलत बैठने की आदतें और शारीरिक तनाव। यदि आपको कमर दर्द हो रहा है, तो यहां कुछ घरेलू उपाय हैं जो आपकी सहायता कर सकते हैं:

    #1.कमर दर्द होने के लिए दूध का सेवन(drinking milk for back pain in hindi)

    कमर दर्द आमतौर पर विभिन्न कारणों से हो सकता है, जैसे कि मांसपेशियों में खिंचाव, स्पाइनल इन्जरी, गठिया, किडनी समस्या या अन्य स्वास्थ्य समस्याएं। यदि आपको कमर दर्द हो रहा है, तो इसे आपके चिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए ताकि वह सही निदान कर सकें और आपको उचित उपचार प्रदान कर सकें।

    कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi

    दूध एक पौष्टिक पदार्थ हो सकता है, जिसमें कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन D और अन्य पोषक तत्व होते हैं। यह सामान्यतः बच्चों और पुराने वयस्कों के लिए अच्छा होता है, जो अपनी सही मात्रा में दूध पीते हैं। दूध शरीर के हड्डियों की मजबूती को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

    कमर दर्द के लिए दूध का सीधा रूप से आरामदायक या उपयोगी होना सिद्ध नहीं हुआ है। कमर दर्द का कारण निर्धारित करने के बाद, चिकित्सक आपको उपयुक्त उपचार सुझा सकेंगे, जिसमें दवाएं, आधारशिला व्यायाम, थेरेपी या अन्य चिकित्सात्मक उपचार शामिल हो सके ।

    #2.कमर दर्द होने के लिए अदरक का सेवन(ginger for back pain in hindi)

    कमर दर्द आम समस्या है और यह अक्सर दिनचर्या और बैठे रहने के कारण हो सकता है। अदरक (ginger) एक प्राकृतिक उपाय हो सकता है जो कमर दर्द को कम करने में मदद कर सकता है।

    अदरक में एंटी-इन्फ्लेमेट्री और पेनकिलर गुण होते हैं जो दर्द को कम करने में सहायक हो सकते हैं। इसके अलावा, अदरक खाने से शरीर की खून संचार में सुधार होता है और संयमित उपयोग से आपकी कमर की मांसपेशियों को आराम मिल सकता है।

    कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi

    आप निम्नलिखित तरीकों से अदरक का सेवन कर सकते हैं:

    अदरक की चाय: आप गर्म पानी में ताजा अदरक के टुकड़े या अदरक के पाउडर को डालकर अदरक की चाय बना सकते हैं। इसे दिनभर में कई बार पीने से कमर दर्द में आराम मिल सकता है।

    अदरक का रस: आप ताजा अदरक को कूद कर इसका रस निकाल सकते हैं और इसे थोड़ी मात्रा में नींबू जूस या शहद के साथ मिला सकते हैं। यह मिश्रण कमर दर्द को कम करने में मदद कर सकता है।

    #3.कमर दर्द होने के लिए बर्फ से सेकाई(Ice pack for back pain in hindi)

    कमर दर्द एक आम स्वास्थ्य समस्या है जो कई कारणों से हो सकती है, जैसे कि मांसपेशियों में खिंचाव, टांगों में स्ट्रेन, रीढ़ की हड्डी में समस्या या संज्ञायों की खराबी। अगर आपको कमर दर्द हो रहा है, तो इसे ठंडा या बर्फ से सेकाने से राहत मिल सकती है, यह तत्परता को कम करने और दर्द को कम करने में मदद कर सकता है।(कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi)

    यहां कुछ उपाय हैं जो आप अपने कमर दर्द को कम करने के लिए बर्फ का इस्तेमाल कर सकते हैं:

    कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi

    बर्फ पैक: आप एक सफेद बर्फ के पैक को कमर के दर्द वाले क्षेत्र पर रख सकते हैं। इसके लिए, एक कपड़े में बर्फ डालें और उसे कमर के निचले हिस्से पर रखें। इसे 10-15 मिनट के लिए रखें और फिर उसे हटा दें। यह दर्द को कम करने में मदद कर सकता है।

    बर्फ कंप्रेस: एक बर्फ कंप्रेस बनाने के लिए, आप बर्फ को किसी कपड़े में रखें और उसे कमर के दर्द वाले क्षेत्र पर धकेलें। इसे कुछ मिनट के लिए रखें और फिर उसे हटा दें।

    #4.कमर दर्द होने के लिए अदरक का इस्तेमाल(Use of ginger for back pain in hindi)

    कमर दर्द कई कारणों से हो सकता है, जैसे की मांसपेशियों का दर्द, स्लिप डिस्क, टेंशन और अन्य कारण। अदरक (ginger) एक प्राकृतिक उपचार है जिसे कई लोग कमर दर्द को कम करने के लिए इस्तेमाल करते हैं। अदरक में विभिन्न गुण होते हैं जो उसे एक प्राकृतिक पेन किलर बनाते हैं।

    यदि आपको कमर दर्द है और आप अदरक का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो निम्नलिखित तरीकों का पालन कर सकते हैं:

    गर्म पानी में अदरक का चाय बनाएं: एक छोटी टुकड़ी अदरक को पानी में उबालें और इसे सुखाने दें। फिर इसे गर्म पानी में डालकर चाय की तरह पीएं। इससे आपको आराम मिल सकता है और कमर दर्द कम हो सकता है।

    अदरक का तेल: अदरक का तेल बाजार में उपलब्ध होता है। इसे आप अपनी कमर में मसाज कर सकते हैं। अदरक के तेल में एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं।

    #5.कमर दर्द होने के लिए लहसुन का इस्तेमाल(Use of garlic for back pain in hindi)

    लहसुन कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने वाली एक प्राकृतिक उपचार औषधि है, और इसे कमर दर्द के इलाज में भी उपयोग किया जा सकता है। लहसुन में मौजूद एक संयंत्रिक जो कैलिसियम ऑक्साइड के रूप में जाना जाता है, कमर दर्द को कम करने में मदद कर सकता है।

    कमर दर्द के लिए लहसुन का इस्तेमाल करने के लिए, आप निम्नलिखित तरीकों का उपयोग कर सकते हैं:

    कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi

    लहसुन का तेल: लहसुन के तेल को कमर की मालिश के लिए उपयोग किया जा सकता है। आप तेल को गर्म करके उसे अधिक संतृप्त कर सकते हैं, और फिर इसे धीरे-धीरे कमर की आस-पास मसाज कर सकते हैं। इससे मांसपेशियों को ताजगी मिलेगी और दर्द कम होगा।(कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi)

    लहसुन की चटनी: लहसुन की चटनी बनाने के लिए एक लहसुन की कलियाँ पीस लें और उसमें थोड़ा सा नमक और नींबू का रस मिला दें। इस चटनी को अपने भोजन के साथ सेवन करें। इससे आपकी पाचन प्रणाली को सुधार मिलेगा और कमर दर्द कम हो सकता है।

    #6.कमर दर्द होने के लिए गेहूं का इस्तेमाल(use of wheat for back pain in hindi)

    कमर दर्द एक आम समस्या हो सकती है और इसके कई कारण हो सकते हैं। जब आप कमर दर्द से पीड़ित होते हैं, तो कुछ प्राकृतिक उपचार आपको राहत प्रदान कर सकते हैं। गेहूं का उपयोग इस तरह की दर्द के लिए एक ऐसा प्राकृतिक उपाय हो सकता है जिसका आप इस्तेमाल कर सकते हैं।

    गेहूं को कमर दर्द के लिए इस्तेमाल करने के लिए निम्नलिखित तरीके का पालन करें:

    कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi

    गेहूं की टिकियों का उपयोग करें: गेहूं की टिकियाँ बारीकी से पीसकर लें और इसे गर्म तेल में तलें। फिर इसे गर्म कपड़ों में बांधकर कमर के ऊपर रखें। यह गर्मी को आपकी कमर में पहुंचाने के लिए मदद कर सकता है और दर्द को कम कर सकता है।

    गेहूं का पेस्ट: गेहूं को पानी में भिगोकर मांसल पेस्ट जैसी बना सकते हैं। इस पेस्ट को कमर के दर्द वाले इलाके पर लगाएं और उसे 15-20 मिनट तक स्क्रब करें। फिर इसे धो लें। यह तनाव को कम करने और दर्द को शांत करने में मदद कर सकता है।

    #7.कमर दर्द होने के लिए तुलसी का इस्तेमाल(Use of Tulsi for back pain in hindi)

    कमर दर्द एक आम स्वास्थ्य समस्या है और इसे कई कारणों से उत्पन्न हो सकता है, जैसे कि मांसपेशियों में खिचाव, टायटस, दबाव, संधियों का समस्यात्मक अस्थिरता, किडनी स्टोन, आंत्र-या यूरीनरी इन्फेक्शन, गर्भाशय असामान्यता, बांझपन, या अन्य गंभीर बीमारियों से संबंधित हो सकता है। तुलसी (ओसिमुम संचिननस) एक प्राकृतिक जड़ी बूटी है और इसके रस और पत्तियाँ तापमान और शान्ति प्रदान करने के लिए प्रस्तुत हैं।

    कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi

    तुलसी को आमतौर पर बीज से या बागान की गमले में उगाया जाता है, और यह आपके घर के आस-पास के किसी भी वातावरण में पाया जा सकता है। तुलसी को अपने खेतों में भी उगाया जा सकता है। इसके पत्तों को आप ताजगी के साथ उगा सकते हैं और फिर उन्हें उपयोग के लिए ले सकते हैं।

    तुलसी में कई गुण होते हैं जो सेहत के लिए उपयोगी हो सकते हैं, जिसमें संश्लेषण और शांति प्रदान करने की क्षमता शामिल है।

    #8.कमर दर्द होने के लिए सेन्हा नमक का इस्तेमाल(Use of Senha salt for back pain in hindi)

    कमर दर्द आमतौर पर शारीरिक बेचैनी और मांसपेशियों में संकट के कारण होता है। सेन्हा नमक एक प्राकृतिक औषधि है जिसे कई लोग कमर दर्द को कम करने के लिए उपयोग करते हैं। हालांकि, आपको यह ध्यान देना चाहिए कि यह वैद्यकीय सलाह के बिना किसी भी नई उपचार या औषधि का उपयोग करना आपके लिए सुरक्षित नहीं हो सकता है।
    कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi

    सेन्हा नमक, हिमालयन सोल्ट नामक स्थल में पाया जाता है और यह प्राकृतिक रूप से हाइड्रेटेड मैग्नीशियम, कैल्शियम, पोटेशियम और अन्य खनिजों का एक अच्छा स्रोत हो सकता है। इन खनिजों का मांसपेशियों के लिए संक्रमण, सूजन और पेशी के दर्द को कम करने में मदद करने के संभावित गुण हो सकते हैं।
    अगर आप कमर दर्द से पीड़ित हैं और सोच रहें हैं कि सेन्हा नमक का उपयोग करें, तो आपको सबसे पहले एक चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए। एक पेशेवर चिकित्सक आपके लिए सबसे अच्छा सलाह दे सकेंगे ।

    #9.कमर दर्द होने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल(Use of hot water for back pain in hindi)

    कमर दर्द अक्सर लोगों को परेशान करने वाली एक सामान्य स्थिति होती है। गर्म पानी इस मामले में कुछ राहत प्रदान कर सकता है। यहां आपके लिए कुछ तरीके हैं जिनका इस्तेमाल करके आप कमर दर्द के लिए गर्म पानी का उपयोग कर सकते हैं:

    गर्म पानी की बॉटल: गर्म पानी की एक बॉटल को कमर के नीचे रखकर आराम कर सकते हैं। यह सशक्त और सुविधाजनक तरीका है जो दर्द को कम कर सकता है।
    कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi

    गर्म शावर या स्नान: नियमित गर्म शावर लेना भी कमर दर्द में आराम प्रदान कर सकता है। गर्म पानी से नहाने से आपकी मांसपेशियों को आराम मिलता है और दर्द कम हो सकता है।
    गर्म पानी का कॉम्प्रेस: एक गर्म पानी की टॉवल या कपड़े को सीधे कमर पर रखकर दबाएं। इससे दर्द की ठंडक मिलेगी और आपको आराम मिलेगा।
    गर्म पानी की मालिश: गर्म तेल के साथ कमर की मालिश करना भी दर्द को कम कर सकता है। इससे आपकी मांसपेशियों का रक्तसंचार बढ़ता है और दर्द में राहत मिलती है।

    कमर दर्द होने पर डॉक्टर के पास कब जाएं(When to go to the doctor for back pain in hindi)

    कमर दर्द बहुत सामान्य समस्या है, जो विभिन्न कारणों से हो सकता है। अगर आपको कमर दर्द है, तो आप निम्नलिखित स्थितियों में डॉक्टर के पास जा सकते हैं:
    1.यदि दर्द बहुत अधिक हो रहा है और सामान्य दवाओं या आराम करने से राहत नहीं मिल रही है।
    2.यदि दर्द के साथ-साथ अन्य लक्षण भी हैं, जैसे कि बुखार, उल्टी, पेशाब करने में समस्या या पेट में सूजन।
    3.यदि दर्द बीमारी या चोट के कारण हुआ है, जैसे कि गिरने या दुर्घटना में चोट लगने के बाद.
    4.यदि आपके पूरे शरीर में या पैरों में ताकत का नुकसान है, जैसे कि अंधापन या स्वास्थ्य का गंवाना.
    यह संकेत आपके स्वास्थ्य प्रदाता को आपकी समस्या के बारे में अवगत करने में मदद करेंगे और वे आपको उचित उपचार या सलाह दे सकते हैं। यदि आपके पास किसी डॉक्टर की सिफारिश होती है, तो उनके साथ संपर्क करें और एक समय बुक करें।

    कमर दर्द होने पर आपके जीवनशैली(Your lifestyle when you have back pain in hindi)

    कमर दर्द आपके जीवनशैली को प्रभावित कर सकता है, इसलिए आपको उचित ध्यान देना चाहिए। यहां कुछ सामान्य सुझाव हैं जो आपको कमर दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं:(कमर दर्द का रामबाण इलाज- Kamar Dard ka Ram baad ilaaz in Hindi)
    1.बैठने और खड़े होने का ध्यान रखें: एक सही पोषण वाली बैठक विश्रामपूर्वक निश्राम करने में मदद कर सकती है। सीधे बैठने की कोशिश करें, अपनी पीठ को समर्थन दें, और लम्बी समय तक एक ही स्थिति में न बैठें। समय-समय पर खड़े होकर थोड़ा संचालन करें और अपनी स्थिति बदलें।
    2.नियमित व्यायाम करें: कमर दर्द से पीड़ित होने पर भी नियमित व्यायाम करना महत्वपूर्ण है। आप अपने चिकित्सक से सलाह ले कर उचित व्यायाम योजना तैयार कर सकते हैं जैसे कि वॉकिंग, स्ट्रेचिंग, पायलेट्स, योग आदि।
    3.सही बैड और मद्रासों का उपयोग करें: एक सही मद्रास और बैड का उपयोग करने से आपकी स्पाइनल सपोर्ट होगी और कमर दर्द में सुधार हो सकता है।

    निष्कर्ष(Conclusion)

    तो दोस्तों या था आज का पोस्ट जिसमे आपको मैंने बताया की कमर दर्द खत्म करने के लिए कौन कौन से नुक्सा अपनाना चाहिए । और मुझे पूरा उम्मीद है कि आपको ये जानकारी बहोत पसंद आयी होगी । और अगर आपका कोई सवाल है तो आप comment करके पूछ सकते है, मैं आपकी पूरी सहायता(help) करने की कोशिश करूँगा।
    और आप लोग ये बताये की आप लोगो को इनमे से कौन सा नुक्सा आपको बहोत पसंद आया ।
    और कमर दर्द की आप लोगों को ये जानकारी कैसी लगी अगर अच्छी लगी हो तो आप ये भी comment करके बता सकते है और साथ ही साथ आप इस आर्टिकल या पोस्ट को शेयर भी जरूर करे।
                                

                                                                               धन्यवाद

     

    Leave a Comment