चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण-Chest ka size badane ka Raam baad

दोस्तों rahultechnoweb पर आपका तहे दिल से अभिनंदन हैं इस पेज पर आप लोगों को चेस्ट का साइज बढ़ाने के उपाय को विस्तार से पढ़कर अपने चेस्ट की साइज बड़ा सकते हैं।

आज के समय में  चेस्ट का साइज कम होना एक बड़ी समस्या बन गयी है लोग ना जाने कौन कौन माध्यमों से चेस्ट का साइज बढ़ाने का तरीका बता रहे है चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण-Chest ka size badane ka Raam baad  लेकिन उससे आपको कोई फायदा नही हो रहा है  और नुकसान ज्यादा से ज्यादा  हो रहा  है कुछ लोग तो केवल पैसे कमाने के लिए चेस्ट का साइज बढ़ाने की दवाइयाँ बेंच रहे हैं ।  जिनका कोई फायदा नहीं हो रहा है ।

और हा हम इस पोस्ट में वैसा नहीं बताएंगे , हम इस पोस्ट में आपको कुछ जबरदस्त नुक्से बताने वाले हैं ।

जो आपको फायदा को छुड़ाय नुकसान नही होगा।

नीचे दिये गये तरीको से चेस्ट का साइज की समस्या को दूर कर सकते हैं ,इन तरीको का इस्तेमाल रोजाना करके चेस्ट का साइज की समस्या को दूर कर सकते हैं  यदि इन तरीको का इस्तेमाल अच्छे से किया तो आपके चेस्ट का साइज आप बढ़ाने में अवश्य कामयाब हो जायेगे ।

चेस्ट एक शब्द है जिसका अर्थ अलग-अलग संदर्भों में अलग हो सकता है। यहां कुछ आम अर्थों को समझाया जाएगा:

छाती या सीना: चेस्ट शब्द का प्राथमिक अर्थ है छाती या सीना। इसे मानव शरीर के उस भाग के रूप में समझा जा सकता है जो हृदय और फेफड़ों को समेटे हुए होता है।

बॉक्स: चेस्ट शब्द का उपयोग व्यायाम, योग और मार्शल आर्ट्स जैसे कार्यक्रमों में एक विशेष प्रकार के व्यायाम बॉक्स को संदर्भित करने के लिए भी किया जाता है। इस व्यायाम में आप विभिन्न बॉक्स आयोजनों, जंपिंग और दौड़ने के साथ संघर्ष करते हैं जिससे आपकी शारीरिक ताकत, सामरिक क्षमता और सुस्ती विकसित होती है।

भूषण: “चेस्ट” शब्द का उपयोग आभूषण या आंगन के विशेष भूषण को संदर्भित करने के लिए भी किया जाता है। इस प्रकार के आभूषण शामिल हो सकते हैं गहने, हार, कंगन, पेंडेंट, मोती आदि। यह आंगन को सजाने या सुंदरता को बड़ा देता है ।

चेस्ट को लोग क्यों बढ़ाते है(Why do people increase the chest in hindi)

चेस्ट को लोग विभिन्न कारणों से बढ़ाते हैं। यहां कुछ प्रमुख कारण दिए गए हैं:

मानसिक चुस्ती और ताकत: चेस्ट खेलने से मानसिक चुस्ती बढ़ती है और मस्तिष्क की क्षमता को विकसित करती है। इस खेल में युक्तियाँ बनाने, समस्याओं को सुलझाने और योजनाएं बनाने की आवश्यकता होती है। चेस्ट खेलने से मानसिक तेजी व निर्णय लेने की क्षमता में सुधार होता है।

    रणनीति विकास: चेस्ट एक रणनीतिक खेल है जिसमें आपको समस्याओं को सुलझाने और युक्तियाँ बनाने की आवश्यकता होती है। चेस्ट खेलने से लोगों की रणनीति विकासित होती है और वे अधिक महारत हासिल करते हैं।

    धैर्य और संयम: चेस्ट खेलने के लिए धैर्य और संयम की आवश्यकता होती है। इसमें आपको धीरे-धीरे और सटीक तरीके से चालें सोचनी होती हैं और अपने रणनीतिक योजनाओं को ध्यान में रखना होता है। चेस्ट खेलने से लोग अपने धैर्य और संयम को सुधारते हैं।

    चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण-Chest ka size badane ka Raam baad

    चेस्ट को कैसे बढ़ाया जा सकता है(how to increase chest in hindi)

    चेस्ट को बढ़ाने के लिए आप निम्नलिखित कुछ तरीकों का उपयोग कर सकते हैं:

    नियमित अभ्यास: चेस्ट को बढ़ाने के लिए नियमित अभ्यास करना महत्वपूर्ण है। आप दिन में कुछ समय चेस्ट को समर्पित करें और अभ्यास करें। आपको अपनी खेलने की क्षमता को सुधारने के लिए विभिन्न प्रकार के अभ्यास, प्रोब्लेम सोल्विंग, और खेलने की चुनौतियों का सामना करना चाहिए।

    शतरंज पुस्तकें और संसाधनों का उपयोग करें: आप शतरंज संबंधित पुस्तकें और संसाधनों का उपयोग करके अपनी ज्ञान और समझ को विस्तारित कर सकते हैं। इससे आपको नई खेलने की तकनीकें सीखने, चालों के प्रश्नों का हल ढूंढने और सबसे महत्वपूर्ण खेल आदिकारी समझ के विकास में मदद मिलेगी।

    चेस्ट न बढ़ने का कारण(Reason for not growing chest in hindi)

    चेस्ट (Chest) के न बढ़ने के कई कारण हो सकते हैं। यहां कुछ मुख्य कारणों को देखा जा सकता है:

    व्यायाम की कमी: अगर आपके चेस्ट मांसपेशियों का व्यायाम कम हो रहा है, तो चेस्ट की मांसपेशियाँ नहीं बढ़ेंगी। चेस्ट का व्यायाम आपके शरीर को स्तब्ध रखता है और मांसपेशियों को विकसित करता है। चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण-Chest ka size badane ka Raam baad  यदि आप अपनी चेस्ट को बढ़ाना चाहते हैं, तो आपको उचित व्यायाम जैसे कि डंडे की प्रेस, पुश-अप्स, दम्भल संचालन (डंबबल क्रॉसओवर), इन्कलाइन और डेक्लाइन बेंच प्रेस, डंबेल प्रेस आदि करने चाहिए।

    अपर्याप्त पोषण: आपके चेस्ट की मांसपेशियाँ नहीं बढ़ सकती हैं अगर आपका आहार संतुलित नहीं है और आपको अपर्याप्त पोषण मिल रहा है। चेस्ट की मांसपेशियों के विकास के लिए प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, फैट्स और विटामिन्स की सही मात्रा की आवश्यकता होती है। आहार में छोटे नशे, खाद्यान्न और पूर्व तैयारिकृत आहार की अधिकता होने से ।

    चेस्ट बढ़ने का लक्षण(symptom of chest enlargement in hindi)

    चेस्ट (छाती) का विकास व्यक्ति के शारीरिक और आकारिक स्वास्थ्य का महत्वपूर्ण हिस्सा है। जब चेस्ट में मांसपेशियों का विकास होता है, तो उसमें कुछ लक्षण दिखाई दे सकते हैं। यहां कुछ चेस्ट बढ़ने के लक्षणों की एक सूची है:

    दबाव: जब चेस्ट के आकार में वृद्धि होती है, तो आपको चेस्ट क्षेत्र में दबाव का अनुभव हो सकता है। इसके कारण आपकी ब्लाउज या शर्ट थाइट हो सकती है या आपको वृद्धि का अनुभव हो सकता है।

    सुधारित पोस्चर: चेस्ट के विकास के साथ, आपकी पोस्चर में सुधार हो सकती है। यह अर्थपूर्ण हो सकता है कि आपकी भुजाओं और पीठ की संरचना में सुधार हो सकती है और आपकी संपूर्ण शारीरिक धारणा में मजबूती आ सकती है।

    स्वस्थ वजन: चेस्ट के विकास के साथ, आपका शरीर स्वस्थ वजन प्राप्त कर सकता है। यह चेस्ट क्षेत्र के मांसपेशियों की वृद्धि और मुख्य अंगों के प्रभावित होने के कारण हो सकता है।

    चेस्ट को कैसे बढ़ाएं घरेलू उपाय (How to increase chest home remedies in hindi)

    चेस्ट (छाती) को बढ़ाने के लिए कुछ घरेलू उपाय निम्नलिखित हो सकते हैं:

    स्वास्थ्यप्रद आहार: अपने आहार में पोषक तत्वों को शामिल करें जो छाती के मांसपेशियों के विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं। शाकाहारी और मांसाहारी दोनों को उचित प्रमाण में सेवन करें और विटामिन D, प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम और विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा लें।

    व्यायाम: नियमित शारीरिक व्यायाम करने से छाती की मांसपेशियों का विकास होता है। वजन पंखुड़ियों को उठाने, डुम्बल कार्ल, पुशअप्स, बेंच प्रेस और डिप्स जैसे व्यायाम आपकी छाती को विकसित करने में मदद कर सकते हैं।

    स्वस्थ रहें: अच्छी स्वास्थ्य रखना आवश्यक है क्योंकि यह आपके मांसपेशियों को संबलता प्रदान करता है। अन्य प्राकृतिक तत्वों के साथ, पर्याप्त नींद, योग और मेडिटेशन करना, तंबाकू और अल्कोहल से दूर रहना, और स्ट्रेस को नियंत्रित करना शारीरिक संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है ।

    चेस्ट को कैसे बढ़ाएं घरेलू नुक्से(How to increase chest home remedies in hindi)

    चेस्ट को बढ़ाने के लिए घरेलू नुस्खों के कुछ सुझाव निम्नलिखित हैं:

    #1.चेस्ट को बढ़ाने के लिए रोज व्ययाम करें(Exercise daily to increase chest in hindi)

    व्यायाम चेस्ट को विकसित करने के लिए उपयोगी हो सकता है। यदि आप अपनी छाती को मजबूत करना चाहते हैं, तो निम्नलिखित व्यायामों को आजमा सकते हैं:

    पुशअप्स: पुशअप्स छाती को मजबूत करने के लिए अत्यधिक प्रभावी होते हैं। आप मुख्य भागीदारी पुशअप्स, विपरीत पुशअप्स, विस्तार पुशअप्स और विद्युत पुशअप्स जैसे विभिन्न वारियेशंस का प्रयास कर सकते हैं।

    चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण

    डंबल की उच्ची: इस व्यायाम में, आप डंबल को अपनी ऊचाई पर उठा लेते हैं और उसे संतुलित ढंग से नीचे लाते हैं। यह आपकी छाती के साथ संपूर्ण व्यायाम करने में मदद करेगा।

    डंबल क्रॉसओवर: इस व्यायाम में, आप डंबल को एक पास से दूसरे पास लाते हैं, छाती के क्षेत्र को लक्ष्य के साथ काम करते हुए। इससे आपकी छाती के उपरी हिस्से का विकास होता है।

    डंबल फ्लाई: इस व्यायाम में, आप डंबल को संकुचित स्थान में बांधे हुए हाथों के साथ बाहर की ओर खींचते हैं।

    #2.चेस्ट को बढ़ाने के लिए ब्रेस्ट ऑयल मसाज करें(Massage breast oil to increase chest in hindi)

    ब्रेस्ट ऑयल मसाज चेस्ट को स्वस्थ रखने और ताकत देने का एक विकल्प हो सकता है, हालांकि इसका कोई साइंटिफिक प्रमाण नहीं है कि यह खासकर छाती को विकसित करने में सहायक होता है। ब्रेस्ट मसाज करने से पहले आपको यह ध्यान देना चाहिए कि कृपया एक पेशेवर मसाज थेरेपिस्ट से सलाह लें और उनके द्वारा सुझाए गए तकनीकों का पालन करें।

    चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण

    यदि आप फिर भी ब्रेस्ट ऑयल मसाज करना चाहते हैं, तो निम्नलिखित तरीके आपके लिए मददगार साबित हो सकते हैं:

    ताप: आप वार्म ब्रेस्ट ऑयल का उपयोग कर सकते हैं और इसे आपके हाथों में गर्म करके अपनी छाती पर धीरे-धीरे मसाज कर सकते हैं। इससे रक्त संचारित होगा और थका हुआ मांसपेशियों को आराम मिलेगा।

    संग्रहीत मांसपेशियों को मसाज करें: आप अपने हाथों के मध्यम से आपकी छाती के चारों ओर हल्के संग्रहीत मांसपेशियों को पकड़कर हल्के हल्के घुमा सकते हैं। 

    #3.चेस्ट को बढ़ाने के लिए एस्ट्रोजन रिच फूड्स खाएं(Eat Estrogen Rich Foods to Increase Chest in hindi )

    आपकी स्वास्थ्य और शारीरिक विकास के लिए उचित आहार महत्वपूर्ण होता है, लेकिन चेस्ट को बढ़ाने के लिए विशेष खाद्य पदार्थों का आपसे सीधा सम्बन्ध नहीं हो सकता है। चेस्ट के आकार व आकार आपके आनुभव, आहार, व्यायाम और आनुवंशिक प्रभावों पर निर्भर करता है।चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण-Chest ka size badane ka Raam baad 

    शरीर के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए पूरी तरह से संतुलित आहार लेना आवश्यक है। आपको प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, फैट, विटामिन और मिनरल्स का समान रूप से सेवन करना चाहिए।

    चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण

    कुछ खाद्य पदार्थ चेस्ट के मांसपेशियों को मजबूत और मजबूत बनाने में सहायक हो सकते हैं, जैसे कि:

    मांस: चिकन, मटन, बीफ, मछली और अंडे में प्रोटीन और विटामिन डी होता है, जो आपके शरीर के विकास में मदद कर सकता है।

    दूध और दूध संबंधित उत्पाद: दूध, पनीर, दही, छाछ आदि में प्रोटीन, कैल्शियम और विटामिन डी होता है, जो मांसपेशियों को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

    #4.चेस्ट को बढ़ाने के लिए प्रोटीन इनटेक बढ़ाएं(Increase protein intake to increase chest in hindi)

    चेस्ट को बढ़ाने के लिए, आपको अपने शरीर की मांसपेशियों को मजबूत करने और मांसपेशियों का विकास करने के लिए प्रोटीन आहार लेना अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। प्रोटीन खाद्य पदार्थ मांस, मछली, अंडे, दूध और दूध से बने उत्पाद, दालें, नट्स और बीज, सोयाबीन आदि में प्राप्त किया जा सकता है।

    चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण

    इसके अलावा, व्यायाम और उपयुक्त वजन प्रशिक्षण चेस्ट के मांसपेशियों को विकसित करने में मदद कर सकते हैं। निम्नलिखित व्यायाम प्रणालियों को आप अपने कार्यक्रम में शामिल कर सकते हैं:

    बेंच प्रेस: यह चेस्ट के बड़े हिस्से को लकड़ी या डंबबी के साथ उठाने का एक अच्छा व्यायाम है।

    पुश-अप्स: यह शरीर के विभिन्न हिस्सों को मजबूत करने के लिए एक प्रमुख व्यायाम है, विशेष रूप से चेस्ट को सुधारता है।

    डंबबी फ्लाई: इस व्यायाम में आप चेस्ट को निश्चित गति के साथ बाहर करते हुए डंबबी को साइड से उठाते हैं।

    #5.चेस्ट को बढ़ाने के लिए सोयाबीन और दूध का सेवन(Consumption of soybean and milk to increase the chest in hindi)

    सोयाबीन और दूध दोनों आहार के रूप में शक्ति प्रदान कर सकते हैं, जो चेस्ट को बढ़ाने में मदद कर सकती है। चेस्ट का विकास शरीर के ऊपरी भाग के मुख्य मांसपेशियों, जैसे कि पेक्टोरलिस मेजर (pectoralis major) और सेराटोमस्टोयड्स (serratus) को स्ट्रेंथन करने के लिए महत्वपूर्ण होता है।

    चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण

    सोयाबीन एक महत्वपूर्ण स्रोत है जो प्रोटीन, विटामिन, और मिनरल्स का उच्च स्तर प्रदान करता है। इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन मौजूद होता है, जो मांसपेशियों के विकास में मदद करता है। आप सोयाबीन को बीन्स, टोफू, सोया दूध, सोया योगर्ट आदि के रूप में खाने के तरीकों को अपना सकते हैं।

    दूध भी एक उच्च गुणवत्ता वाला पदार्थ है जो कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन डी, और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्वों का स्रोत हो सकता है। इसलिए, दूध पीने से चेस्ट को बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

    #6.चेस्ट को बढ़ाने के लिए सौंफ और पानी का सेवन(Consuming fennel and water to increase chest in hindi)

    सौंफ और पानी का सेवन चेस्ट को बढ़ाने में मदद कर सकता है, यह दो प्राकृतिक तत्व हैं जिनके कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। यहां कुछ तरीके हैं जिनसे आप चेस्ट को बढ़ा सकते हैं:

    सौंफ (Fennel) का सेवन: सौंफ में कार्वनिक एसिड और एनेथोल पाये जाते हैं, जो चेस्ट की एक्टिविटी को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। आप सौंफ को भूनकर उसे एक ग्लास पानी में डालकर उबाल सकते हैं। इसे ठंडा करने के बाद, आप इसे दिन में कुछ बार पी सकते हैं।

    चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण

    पानी का सेवन: पर्याप्त मात्रा में पानी पीना शरीर के साथ-साथ चेस्ट को भी स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। यह रक्त परिसंचरण को बढ़ावा देता है और चेस्ट में ताजगी और ऊर्जा लाता है। अगर आप अपनी रोजमर्रा की पानी की मात्रा बढ़ाना चाहते हैं, तो प्रतिदिन कम से कम 8-10 गिलास पानी पीने का प्रयास करें।

    उचित पोषण: आपके आहार में उचित पोषण होना चाहिए ताकि आपकी चेस्ट और शरीर स्वस्थ रहे। हरी सब्जियाँ, फल आदि ।

    चेस्ट को बढ़ाने के लिए कौन कौन से व्ययाम करें(Which exercises to do to increase the chest in hindi)

    चेस्ट को बढ़ाने के लिए कुछ व्यायाम आपकी मदद कर सकते हैं। निम्नलिखित कुछ व्यायाम विकल्पों को आप अपने रोजमर्रा के व्यायाम योजना में शामिल कर सकते हैं:

    पुश-अप्स: पुश-अप्स आपकी छाती की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद कर सकते हैं। इसके लिए आप अपने हाथों को शोल्डर चौड़ाई से थोड़ा अधिक दूरी पर रखें और अपने शरीर को फ्लॉर पर लेट जाएं। चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण-Chest ka size badane ka Raam baad  अब आपको उच्च स्थिति में आने के लिए अपने हाथों को फ्लॉर पर रखकर अपने शरीर को उच्च करना होगा। इस व्यायाम को संख्या में बढ़ाते जाएं।

    डम्बल प्रेस: डम्बल प्रेस एक अच्छा व्यायाम है जो आपकी छाती, कंधों और बाहों की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद कर सकता है। आप यह व्यायाम अपने स्थानीय जिम में या अपने घर पर कर सकते हैं।

    डिप्स: डिप्स आपकी छाती, बाहों, और त्रिप्स की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद कर सकते हैं। 

    चेस्ट बढ़ाने के लिए कौन कौन सा आसन करें(Which posture to increase chest in hindi)
    चेस्ट को विकसित करने के लिए निम्नलिखित आसनों को करने से मदद मिल सकती है:

    #1.चेस्ट को बढ़ाने के लिए गोमुखासन(Gomukhasana to increase the chest in hindi)

    गोमुखासन (Gomukhasana) योगासन एक आसन है जिसे हिंदी में “गोमुख” का अर्थ होता है “गाय का मुख”। यह आसन चेस्ट (सीना) को बढ़ाने में मदद कर सकता है, साथ ही साथ कंधे, बांहें, और पीठ की मांसपेशियों को तंग करने में भी सहायता प्रदान कर सकता है। इसके अलावा, यह आसन स्थिरता, ध्यान, और श्वास नियंत्रण को भी सुधार सकता है।
    यहां गोमुखासन को करने का तरीका है:
    चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण
    1.सबसे पहले एक योगमाट या चटाई पर बैठें और अपने पैरों को आगे फैलाएं।
    2.अब अपनी दाईं जांघ को अपनी बाईं जांघ के ऊपर रखें। आपके घुटनों का एकत्रीकरण होना चाहिए।
    3.अगले कदम में, अपनी बाईं बांह को ऊपर की ओर उठाएं और आपकी ऊंची बांह को पीठ के पास ले जाएं।
    4.अब अपनी दाईं हाथ को पीठ के पीछे ले जाएं और बाएं हाथ को ऊपर की ओर ले जाएं। दोनों हाथों को पीठ के पास मिलाएं।
    5.अब आपके दोनों हाथों को पृष्ठ की ओर स्थिर रखें। यदि आपको हाथों को मिलाने में समस्या होती है ।

    #2.चेस्ट को बढ़ाने के लिए भुजंगासन(Bhujangasana to increase the chest in hindi)

    भुजंगासन या सर्पासन एक योगासन है जो आपकी चेस्ट (हृदय क्षेत्र) को मजबूत करने में मदद कर सकता है। यह आपके पीठ, हाथ, और छाती के मांसपेशियों को बढ़ाने और सुधारने में मदद करता है और आपके चेस्ट क्षेत्र को स्थिर और उज्ज्वल बनाता है।
    यहां भुजंगासन करने की कुछ चरणबद्ध निर्देशाएं हैं:
    1.मैट पर पेट के बल लेट जाएँ।
    2.अपने पैरों को मैट पर फैलाएँ, जहां आपके अंगुलियों तक पहुंच सकें।
    3.अपने हाथों को छाती के नीचे स्थान करें, पैरों के निकट। अपने हाथों की उंगलियों को मैट पर रखें।
    4.श्वास लें और धीरे से अपने सर को ऊपर उठाएँ, चेस्ट क्षेत्र को मुड़े और अपनी पीठ को आकर्षित करें।
    5.ध्यान दें कि आपके हाथों का भार समान रूप से बटेगा।
    6.यदि संभव हो तो आप अपनी बाएं पैर को उठा सकते हैं और अपने दाएं पैर के साथ बाएं हाथ की उंगलियों को छू सकते हैं। इसे व्यायाम के स्तर के अनुसार करें।

    #3.चेस्ट को बढ़ाने के लिए वृक्षासन(Vrikshasana to increase the chest in hindi)

    वृक्षासन (Vrikshasana) योगासन को चेस्ट (chest) को बढ़ाने के लिए सीधे तौर पर नहीं माना जाता है, लेकिन इस आसन का नियमित अभ्यास करने से आपके पोशक तंत्र (respiratory system) को स्वस्थ रखने और श्वसन शक्ति (lung capacity) को बढ़ाने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा, वृक्षासन मस्तिष्क को स्थिर करने, संतुलितता बढ़ाने और शरीर के अन्य हिस्सों को मजबूत और लचीला बनाने में मदद कर सकता है।
    वृक्षासन

    वृक्षासन को करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:
    1.ध्यान और शांति में खड़े हों। अपने शरीर को सीधा रखें और निश्वास लें।
    2.आपके दोनों पैरों को फ्लोर पर रखें। यदि आप चाहें तो आप इस आसन को वर्कआउट या योगा मैट पर भी कर सकते हैं।
    3.एक पैर को दूसरे पैर के ऊपर बांधें, इसे जैसे कि एक वृक्ष की जड़ बांधती है। अपने दायें पैर को आपके बाएं जांघ पर या आपके बाएं पैर को आपके दाएं जांघ पर रखें।
    4.अपने हाथों को आपके सिर के ऊपर उठाएं ।

    #4.चेस्ट को बढ़ाने के लिए ऊष्ट्रासन(Ustrasana to increase the chest in hindi)

    ऊष्ट्रासन (Ustrasana) योगासन चेस्ट को बढ़ाने और स्पीनल कॉर्ड को स्ट्रेच करने के लिए लाभदायक हो सकता है। निम्नलिखित तरीके से आप ऊष्ट्रासन का अभ्यास कर सकते हैं:
    1.आसन की शुरुआत करने के लिए एक योगमाट या चटाई पर बैठें। अपने घुटनों को हिप विड्थ की दूरी पर रखें, अपने पैरों को अपने नीचे या पीछे रखें।चेस्ट का साइज बढ़ाने का रामबाण-Chest ka size badane ka Raam baad 
    2.अब अपने जांघों को धीरे-धीरे तनाव से आगे बढ़ाएं और अपने पैरों के बाल अपने हाथों के साथ पकड़ें। ध्यान दें कि आपके पैर पूरी तरह से फीट फ्लैट पड़ें और अपनी पंख नीचे दिखाई दें।
    3.अब धीरे-धीरे अपने सिर को पीठ की ओर मुड़ें, जबकि आप अपनी चेस्ट को आगे करते हैं। यहां, आपको ध्यान देना होगा कि आपका नेक नेचरल रखें और अपना सिर विश्राम से वापस टिकाएं।
    4.अपनी धड़ आराम से खींचें और अपने चेस्ट को आगे बढ़ाएं, जबकि आपका ध्यान तनाव को बढ़ाने पर होना चाहिए।

    निष्कर्ष(Conclusion)

    तो दोस्तों या था आज का पोस्ट जिसमे आपको मैंने बताया की चेस्ट की साइज बढ़ाने के लिए कौन कौन से नुक्सा अपनाना चाहिए । और मुझे पूरा उम्मीद है कि आपको ये जानकारी बहोत पसंद आयी होगी । और अगर आपका कोई सवाल है तो आप comment करके पूछ सकते है, मैं आपकी पूरी सहायता(help) करने की कोशिश करूँगा।
    और आप लोग ये बताये की आप लोगो को इनमे से कौन सा नुक्सा आपको बहोत पसंद आया ।
    और चेस्ट की साइज बढ़ाने में आप लोगों को ये जानकारी कैसी लगी अगर अच्छी लगी हो तो आप ये भी comment करके बता सकते है और साथ ही साथ आप इस आर्टिकल या पोस्ट को शेयर भी जरूर करे।

                                
                                                                         धन्यवाद

     

    Leave a Comment