दुबले पतले शरीर को मोटा कैसे करें? Mota Hone Ke Gharelu Upay in Hindi

दोस्तों rahultechnoweb पर आपका तहे दिल से अभिनंदन हैं इस पेज पर आप लोगों को दुबले पतले शरीर को मोटा होने के उपाय को विस्तार से पढ़कर आप अपने दुबले पटले शरीर को मोटा कर कर सकते हैं।

आज के समय में दुबले पतला होना एक बड़ी समस्या बन गयी है लोग ना जाने कौन कौन माध्यमों से दुबले पतले शरीर को मोटा करने का तरीका बता रहे हैं लेकिन उससे आपको कोई फायदा नही हो रहा है  और नुकसान ज्यादा से ज्यादा  हो रहा  है कुछ लोग तो केवल पैसे कमाने के लिए दुबले पतले शरीर को मोटा करने  की दवाइयाँ बेंच रहे हैं ।  जिनका कोई फायदा नहीं हो रहा है ।

और हा हम इस पोस्ट में वैसा नहीं बताएंगे , हम इस पोस्ट में आपको कुछ जबरदस्त नुक्से बताने वाले हैं ।

जो आपको फायदा को छुड़ाय नुकसान नही होगा।

नीचे दिये गये तरीको से आप दुबले पतले शरीर को मोटा कर सकते हैं ,इन तरीको का इस्तेमाल रोजाना करके दुबले पतले शरीर को मोटा दूर कर सकते हैं  यदि इन तरीको का इस्तेमाल अच्छे से किया तो आपके दुबले पतले शरीर को मोटा अवश्य कर सकते हैँ ।

दुबले पतले शरीर को मोटा करने के लिए निम्नलिखित तरीके अपनाए जा सकते हैं:

 

     

    

1.सही खान-पान: अपने खाने में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, फैट और विटामिन जैसे पोषक तत्व शामिल करें। स्वस्थ तरीके से मोटा होने के लिए अपने दैनिक भोजन में सम्मिलित करें।

2.व्यायाम: रोजाना व्यायाम करने से शरीर का मस पेशियों में बढ़ता है, जो आपको बॉडी मास बढ़ाने में मदद कर सकता है।

3.पर्याप्त आराम: अच्छी नींद लेना आपके शरीर को ठीक से आराम देता है और आपके मांसपेशियों को बढ़ाने में मदद करता है।

दुबले पतले शरीर को मोटा कैसे करें? Mota Hone Ke Gharelu Upay in Hindi

4.खाने के बाद रात का खाना न खाएं: रात को खाने से शरीर को बॉडी मास बनाने के लिए ऑक्सीडेशन रेट में बढ़ोतरी नहीं होती है।

5.संतुलित लाइफस्टाइल: आपको स्वस्थ जीवन शैली अपनानी चाहिए। यह शामिल करता है, सभी पोषण से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करना, रोजाना व्यायाम करना, और नियमित नींद लेना।

मोटा होने के उपाय (ways to get fat in hindi) 

मोटा होने के लिए निम्नलिखित उपाय अपनाए जा सकते हैं:

1.सही खानपान: सही खानपान अत्यंत महत्वपूर्ण है। आपको अपने भोजन में पौष्टिक तत्व शामिल करने चाहिए, जैसे कि फल, सब्जियां, दूध, दही, मेवे, अंडे और मांस। एक दिन में तीन भोजन लें और अपने भोजन के बीच में स्नैक करें।

2.व्यायाम: व्यायाम करना मोटापा बढ़ाने के लिए आवश्यक है। अपने शरीर को सक्रिय रखने के लिए आप कुछ साधारण व्यायाम जैसे कि चलना, दौड़ना, योगा आसन और वजन उठाने वाले व्यायाम कर सकते हैं।

3.नींद: नींद आपके शरीर के लिए बहुत आवश्यक है। आपको दिन में कम से कम 7-8 घंटे की नींद लेनी चाहिए।

4.स्ट्रेस से बचें: स्ट्रेस भी मोटापा बढ़ाने का कारण बन सकता है। स्ट्रेस को कम करने के लिए आप मेडिटेशन या योग कर सकते हैं।

5.डॉक्टर से सलाह: अगर आप लंबे समय से मोटापा नहीं बढ़ा पा रहे हैं, तो आप अपने डॉक्टर से सलाह ले 

मोटा होने के लिए क्या क्या खाना चाहिए

मोटा होने के लिए हमे निम्नलिखित खाद्यो और फलों का सेवन करना चाहिए –

वजन बड़ाने के लिए केले का सेवन (eating bananas for weight gain in hindi) 

केले वजन बढ़ाने के लिए बहुत अच्छे होते हैं। केले में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और विटामिन बी6 की अच्छी मात्रा होती है जो आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। केले में शुगर की मात्रा भी अच्छी होती है जो आपको अधिक एनर्जी प्रदान करती है।

इसके अलावा, केले में फाइबर भी होता है जो आपको भोजन के बाद भी भरपेट महसूस करने में मदद करता है। फाइबर आपके पाचन तंत्र को स्वस्थ रखता है और आपके शरीर को समग्र तौर पर स्वस्थ बनाए रखता है।

केले को अलग-अलग तरीकों से खाया जा सकता है। आप इसे ड्राई फ्रूट, सूप, स्मूथी, शेक और डेसर्ट के रूप में शामिल कर सकते हैं। इसे अपने नियमित भोजन में शामिल करने से आपको वजन बढ़ाने में मदद मिलेगी।

ध्यान रखें कि बहुत अधिक मात्रा में केले का सेवन करना बेहतर नहीं हो सकता है, इसलिए आपको अपने डाइट में उन्हें समझदारीपूर्वक शामिल करना चाहिए।

वजन बड़ाने के लिए दूध का सेवन(milk intake for weight gain in hindi) 

दूध वजन बढ़ाने के लिए एक उत्तम स्रोत हो सकता है। यह पूरे पैकेज में पौष्टिक तत्वों से भरपूर होता है, जो आपके शरीर को ऊर्जा देने में मदद करते हैं। दूध में प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन डी और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्व पाए जाते हैं जो आपके शरीर को सही तरीके से बनाए रखने में मदद करते हैं।

यदि आप अपने वजन को बढ़ाने के लिए दूध का सेवन करना चाहते हैं, तो आप रोजाना दूध की एक गिलास पी सकते हैं। यह आपको अतिरिक्त कैलोरी, प्रोटीन और अन्य पोषक तत्व प्रदान करेगा जो आपके वजन बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। आप दूध को दूसरे भोजन के साथ मिश्रित करके या फिर शेक बनाकर पी सकते हैं।

दुबले पतले शरीर को मोटा कैसे करें? Mota Hone Ke Gharelu Upay in Hindi

ध्यान रखें कि दूध का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श करें। कुछ लोग दूध को पचाने में कठिनाई महसूस करते हैं और इससे उन्हें पेट संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

वजन बड़ाने के लिए सेव का सेवन (eating apple for weight gain in hindi) 

सेव वजन बढ़ाने के लिए एक सुगन्धित और स्वादिष्ट फल है। सेव में विटामिन, मिनरल और फाइबर का अच्छा संयोग होता है जो आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

अधिकतर लोग सेव को खाने से पेट भर जाता है, इसलिए अगर आप वजन बढ़ाना चाहते हैं तो आपको इसे अपने मेल में शामिल करना चाहिए। सेव में शुगर की मात्रा भी होती है, इसलिए अधिक मात्रा में सेव का सेवन आपके लिए हानिकारक हो सकता है।

आप दिन में 2-3 सेव खा सकते हैं। आप सेव को सलाद, सेव पाई या सेव का जूस बनाकर भी खा सकते हैं। इसके अलावा, आप सेव के साथ दूसरे खाद्य पदार्थ जैसे दही, चीज, और नट्स जैसी चीजों को मिलाकर भी खा सकते हैं।

दुबले पतले शरीर को मोटा कैसे करें? Mota Hone Ke Gharelu Upay in Hindi

ध्यान रखें कि सेव के अलावा आपको भी विभिन्न पोषक खाद्य पदार्थों को खाने की आवश्यकता होगी जो आपको वजन बढ़ाने में मदद करेंगे। इसके साथ ही आप अपने डेली रूटीन में व्यायाम भी शामिल करें।

वजन बड़ाने के लिए जौ का सेवन (eating barley for weight gain in hindi) 

जौ वजन बढ़ाने के लिए बहुत अच्छा आहार है। यह एक ऊर्जा दायक अनाज होता है जो आपको विटामिन, मिनरल और प्रोटीन प्रदान करता है। जौ में फाइबर भी होता है जो आपके पाचन क्रिया को सुधारता है और वजन बढ़ाने में मदद करता है। जौ में अनेक पोषक तत्व होते हैं जैसे कि फोस्फोरस, फोलिक एसिड, बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन और आवश्यक एमिनो एसिड।

जौ को अलग-अलग तरीकों से खाया जा सकता है। आप जौ के फलक, दही या मैसूर दाल के साथ खा सकते हैं। इसके अलावा, आप जौ के खिचड़ी या उपमा बना सकते हैं। आप जौ की रोटी भी बना सकते हैं और उसे सब्जी या दाल के साथ खा सकते हैं।

ध्यान रखें कि वजन बढ़ाने के लिए, आपको अपने आहार में कुछ अन्य संतुलित आहार भी शामिल करने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा, आपको अपने व्यायाम और आराम के समय भी ध्यान देना चाहिए।

वजन बड़ाने के लिए बादाम का सेवन (eating almonds for weight gain in hindi) 

हां, बादाम वजन बढ़ाने के लिए एक अच्छा स्रोत हो सकते हैं। बादाम में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन और मिनरल्स की अच्छी मात्रा होती है। इसके अलावा, बादाम में उच्च मात्रा में कैलोरी और वसा होती है, जो वजन बढ़ाने में मदद कर सकता है।

आप रोजाना 5-6 बादाम खा सकते हैं या उन्हें अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा, आप बादाम के बट्टे, बादाम का दूध, बादाम की बर्फी आदि तरह-तरह के भोजन भी तैयार कर सकते हैं जो वजन बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

हालांकि, अधिक मात्रा में बादाम खाने से आपका वजन बढ़ सकता है लेकिन अधिक मात्रा में खाने से आपकी सेहत पर बुरा प्रभाव भी पड़ सकता है। इसलिए आपको नियमित रूप से बादाम का सेवन करना चाहिए लेकिन समझदारी से करना चाहिए।

वजन बड़ाने के लिए खजूर का सेवन (eating dates for weight gain in hindi) 

खजूर वजन बढ़ाने के लिए एक अच्छा स्रोत हो सकता है। खजूर में कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, पोटैशियम, मैग्नीशियम, जिंक और विटामिन बी की अच्छी मात्रा होती है।

खजूर खाने से आपको अधिक ऊर्जा मिलती है जो आपको वजन बढ़ाने में मदद कर सकती है। इसके अलावा, खजूर में मौजूद फाइबर आपके पाचन तंत्र को स्वस्थ रखता है जो अधिक खाने से बचाता है और आपको उत्तेजित और भोजन के बाद भी भूख नहीं लगने देता है।

दुबले पतले शरीर को मोटा कैसे करें? Mota Hone Ke Gharelu Upay in Hindi

आप खजूर को अन्य खाद्य सामग्रियों के साथ मिश्रित करके सलाद या स्नैक्स के रूप में खा सकते हैं। आप खजूर के रोल्स बनाकर या इसे आपके पसंद के साथ जूस बनाकर भी खा सकते हैं। लेकिन, ध्यान रखें कि खजूर में अधिक मात्रा में शक्कर होती है इसलिए आपको इसे मात्रम सेवन करना चाहिए। अतिरिक्त मात्रा में खजूर खाने से आपको अधिक कैलोरी मिल सकती है जो अतिरिक्त वजन बढ़ाने के लिए हानिकारक हो सकती है।

वजन के लिए अंजीर का सेवन (eating figs for weight in hindi) 

अंजीर वजन घटाने के लिए एक उत्तम पौष्टिक खाद्य है। यह स्वस्थ वसा वाले खाने के विकल्पों में शामिल किया जा सकता है। अंजीर में फाइबर और पोटैशियम की अधिक मात्रा होती है, जो वजन घटाने में मदद करते हैं। अंजीर में अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्वों जैसे कि विटामिन ए, कैल्शियम, मैग्नीशियम और आयरन भी होते हैं।

दुबले पतले शरीर को मोटा कैसे करें? Mota Hone Ke Gharelu Upay in Hindi

अंजीर को वजन घटाने के लिए खाने से पहले सूखे अंजीरों को रात भर के लिए पानी में भिगो देना चाहिए ताकि वे संक्रमण से मुक्त हो जाएं और अधिक फाइबर प्राप्त करने में मदद मिले। फिर उन्हें शाम के समय खाने से पहले एक से दो घंटे पहले भिगो देना चाहिए। आप अंजीर को दही, अनार बीज, खजूर और अन्य स्वस्थ विकल्पों के साथ खा सकते हैं।

वजन बढ़ाने के लिए सोयाबीन का सेवन (Soybean intake for weight gain in hindi) 

सोयाबीन वजन बढ़ाने के लिए एक अच्छा स्रोत हो सकता है। सोयाबीन में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, विटामिन और खनिजों की अच्छी मात्रा होती है। इसके अलावा, सोयाबीन में लिग्नान्स नामक एक प्रकार का फाइटोएस्ट्रोजन होता है, जो वजन बढ़ाने में मदद कर सकता है।

एक अध्ययन में पाया गया है कि सोयाबीन के सेवन से वजन बढ़ने में मदद मिल सकती है। सोयाबीन में मौजूद प्रोटीन वजन बढ़ाने में मदद कर सकता है क्योंकि यह शरीर को अधिक मात्रा में एनर्जी देता है और मसपेशियों को बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा, सोयाबीन में मौजूद फाइटोएस्ट्रोजन बॉडी के अंदर एक अच्छे स्तर पर होने से वजन बढ़ाने में मदद कर सकता है।

लेकिन, सोयाबीन के सेवन से पहले, आपको अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए क्योंकि यह एलर्जी या अन्य संबंधित समस्याओं के कारण आपके लिए अनुचित हो सकता है। 

वजन बढ़ाने के लिए बीन्स का सेवन (beans for weight gain in hindi) 

बीन्स वजन बढ़ाने के लिए एक बहुत ही अच्छा खाद्य पदार्थ हैं। बीन्स में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, विटामिन, मिनरल और फाइबर होते हैं, जो शरीर के वजन बढ़ाने में मदद करते हैं।

बीन्स में प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है, जो शरीर में मांस उत्पादों से भी अधिक उपलब्ध होती है। यह आपके शरीर को मांस उत्पादों की तुलना में भी विभिन्न प्रकार के फायदे प्रदान करता है। इसके अलावा, बीन्स में कार्बोहाइड्रेट्स भी होते हैं जो आपके शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं।

दुबले पतले शरीर को मोटा कैसे करें? Mota Hone Ke Gharelu Upay in Hindi

बीन्स में विटामिन और मिनरल का एक भरपूर मात्रा होती है, जो आपके शरीर के विभिन्न अंगों के लिए बहुत आवश्यक होते हैं। बीन्स में फाइबर भी होता है, जो आपको भूख से लड़ने में मदद करता है। इससे आप अधिक खाने से बच सकते हैं और वजन बढ़ाने में सक्षम हो सकते हैं।

लेकिन, वजन बढ़ाने के लिए सिर्फ बीन्स खाने से काम नहीं चलेगा।

वजन बढ़ाने के लिए दूध और वोट्स का सेवन (Consumption of milk and votes to increase weight in hindi) 

वजन बढ़ाने के लिए दूध और वोट्स दोनों आहार में महत्वपूर्ण होते हैं। दूध एक स्वस्थ आहार होता है जो उच्च प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसलिए, दूध आपको अपने वजन बढ़ाने के लिए मदद कर सकता है।

वोट्स (जिसे ऑट्स भी कहा जाता है) भी एक स्वस्थ आहार होता है जो उच्च प्रोटीन, फाइबर, विटामिन और खनिजों से भरपूर होता है। वोट्स खाने से आपको ऊर्जा मिलती है जो आपके वजन बढ़ाने में मदद करती है।

अगर आप वजन बढ़ाने के लिए दूध और वोट्स का सेवन करना चाहते हैं, तो आप इन्हें अपने नियमित आहार में शामिल कर सकते हैं। आप दूध को दूधदार पदार्थ जैसे मिश्रित फलों, ओटमील, योगर्ट आदि में शामिल कर सकते हैं। वोट्स को भी आप इसी तरह सुबह के नाश्ते के रूप में शामिल कर सकते हैं या उन्हें ड्राई फ्रूट्स, नट्स और फलों के साथ मिश्रित कर सकते हैं।

वजन बढ़ाने के लिए गाज़र का सेवन (eating carrots for weight gain in hindi) 

वजन बढ़ाने के लिए गाजर एक उत्तम विकल्प हो सकता है। गाजर एक संतुलित आहार है जो कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है, जिसमें कारोटीन, विटामिन ए, सी और के, फोलिक एसिड और पोटेशियम शामिल होते हैं।

गाजर में मौजूद कार्बोहाइड्रेट भी वजन बढ़ाने में मददगार साबित हो सकते हैं। इसलिए, यदि आप वजन बढ़ाना चाहते हैं तो आप गाजर को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।

ध्यान रखें कि वजन बढ़ाने के लिए केवल गाजर खाना काफी नहीं है। आपको उन खाद्य पदार्थों को भी शामिल करना होगा जो आपके शरीर को प्रतिरक्षा शक्ति प्रदान करें और सही पोषण प्रदान करें। इसलिए, अगर आप वजन बढ़ाने की सोच रहे हैं तो आपको एक पूर्णतः बलैंस्ड आहार लेना चाहिए जिसमें अलग-अलग खाद्य पदार्थ शामिल हों।

वजन बढ़ाने के लिए किशमिश का सेवन(raisins for weight gain in hindi) 

किशमिश वजन बढ़ाने के लिए एक अच्छी खाद्य पदार्थ हो सकता है। किशमिश में कई पोषक तत्व होते हैं जैसे कि विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सिडेंट जो आपके शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

किशमिश में कैलोरी और शुगर होता है, इसलिए अधिक मात्रा में किशमिश खाने से वजन बढ़ सकता है। लेकिन यदि आप वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो आपको अन्य पोषक तत्वों के साथ सही मात्रा में किशमिश खाने की आवश्यकता होती है। आप दिन में 10-15 किशमिश खा सकते हैं या तो अपने भोजन में किशमिश शामिल कर सकते हैं।

दुबले पतले शरीर को मोटा कैसे करें? Mota Hone Ke Gharelu Upay in Hindi

यदि आपके पास डायबिटीज है, तो आपको किशमिश के सेवन से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए क्योंकि किशमिश में शुगर होता है। इसके अलावा, किशमिश खाने से पहले उन्हें अच्छी तरह से धोएं या उन्हें एक दिन पहले भिगोएं ताकि वे स्वस्थ रहें।

वजन बढ़ाने के लिए दवाओं का सेवन (Medicine for weight gain in hindi) 

मैं आपको सलाह नहीं दे सकता कि वजन बढ़ाने के लिए आप दवाएं लें। यह आपके स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है। दवाओं का सेवन वजन बढ़ाने के लिए सही तरीके नहीं है, क्योंकि यह आपको कुछ समय के लिए फायदा दे सकता है लेकिन फिर बाद में आपको नुकसान पहुंचा सकता है।

वजन बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा तरीका है अपने आहार में पोषक तत्वों को शामिल करना और अपने शारीर के लिए अधिक कैलोरी प्रदान करना। आपको नियमित रूप से भोजन करना चाहिए और उसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फैट शामिल करना चाहिए। इसके अलावा, नियमित रूप से व्यायाम करने से भी वजन बढ़ाया जा सकता है।

यदि आप वजन बढ़ाने के लिए सलाह चाहते हैं, तो आप एक नल व्यायाम या एक डाइटिशियन से संपर्क कर सकते हैं। वे आपको सही राह दिखा सकते हैं जो आपको स्वस्थ और सुरक्षित रूप से वजन बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

वजन बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं का सेवन)ayurvedic medicine for weight gain in hindi) 

वजन बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं का सेवन करने से पहले आपको यह जानना चाहिए कि आपका वजन कम क्यों हो रहा है। यदि आपका वजन कम होने का कारण अल्पाहार, व्यायाम न करना, स्वस्थ नहीं खाना या रोग होना है, तो आपको यह समझना चाहिए कि आपको वजन बढ़ाने के लिए सबसे पहले इस समस्या का सामना करना होगा।

आयुर्वेदिक दवाओं का सेवन करने से पहले आपको एक वैद्य से परामर्श लेना चाहिए। वैद्य आपके शरीर की प्रकृति, दोष और विकृति के आधार पर आपको सही दवा बताएंगे। यहां कुछ आयुर्वेदिक दवाएं हैं जो वजन बढ़ाने में मददगार हो सकती हैं:

1.अश्वगंधा: अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है जो वजन बढ़ाने में मदद कर सकती है। इसे पाउडर के रूप में लेना चाहिए।

2.शतावरी: शतावरी भी एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है जो वजन बढ़ाने में मदद कर सकती है। इसे पाउडर के रूप में लेना चाहिए।

वजन बढ़ाने के लिए होमियोपैथिक दवाओं का सेवन (homeopathic medicine for weight gain in hindi) 

होमियोपैथिक दवाओं के बारे में जानकारी देने से पहले मैं यह बताना चाहूंगा कि वजन बढ़ाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीजें हैं एक स्वस्थ खाने का शेड्यूल बनाना, प्रतिदिन व्यायाम करना और पर्याप्त नींद लेना।

वजन बढ़ाने के लिए होमियोपैथिक दवाओं का सेवन एक विकल्प हो सकता है, लेकिन इससे पहले आपको एक होमियोपैथिक डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। होमियोपैथिक डॉक्टर आपकी जाँच करेंगे और आपकी समस्या के लिए सही दवा निर्धारित करेंगे।

कुछ होमियोपैथिक दवाएं वजन बढ़ाने में मदद कर सकती हैं, जैसे कि Alfalfa tonic, अश्वगंधा और अर्जुना। ये दवाएं आपके शरीर को ऊर्जा प्रदान करती हैं और वजन बढ़ाने में मदद करती हैं।

हालांकि, होमियोपैथिक दवाओं के सेवन से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श करना जरूरी है। इसके अलावा, आपको स्वस्थ खाने का शेड्यूल बनाना, प्रतिदिन व्यायाम करना और पर्याप्त नींद लेना भी बहुत महत्वपूर्ण है ।

वजन बढ़ाने के लिए मांसाहारी भोजन का सेवन करना बेहतर होता है? (Is it better to eat non-vegetarian food to gain weight in hindi) 

वजन बढ़ाने के लिए मांसाहारी भोजन का सेवन करना बेहतर होता है, क्योंकि मांस और मांस से बनी चीजें उच्च विशेषता वाले प्रोटीन, विटामिन बी12, जिंक और अन्य पोषक तत्वों का अच्छा स्रोत होते हैं। इन पोषक तत्वों की कमी के कारण अक्सर लोग दुर्बल और निराश रहते हैं।

मांसाहारी भोजन शरीर के उपयोग के लिए अधिक उपलब्ध प्रोटीन प्रदान करता है, जो मांस और दूध उत्पादों में आसानी से उपलब्ध होते हैं। इससे शरीर के मांसपेशियों और ऊर्जा के लिए विशेष रूप से आवश्यक अमीनो एसिडों का निर्माण होता है।

दुबले पतले शरीर को मोटा कैसे करें? Mota Hone Ke Gharelu Upay in Hindi

 मांसाहारी भोजन खाने के साथ ही संतुलित आहार भी जरूरी है। सिर्फ मांस खाने से आपको सभी पोषक तत्वों की आवश्यकताएं पूरी नहीं होती हैं। साथ ही इससे शरीर को अधिक से अधिक वसा जमा हो सकती है जो सेहत के लिए हानिकारक हो सकती है।

इसलिए, यदि आप वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो मांसाहारी भोजन अवश्य ले सकते हैं, 

वजन बढ़ाने के लिए क्या दवाओं का सेवन करना सही है (Is it right to take medicines to gain weight in hindi) 

वजन बढ़ाने के लिए दवाओं का सेवन करना ज़रूरी नहीं है और यह सलाह दी नहीं जाती है। इसके बजाय, आप अपने आहार में उच्च-प्रोटीन भोजन शामिल कर सकते हैं जैसे मछली, मांस, अंडे और दही। साथ ही स्ट्रेंथ ट्रेनिंग जैसे वजन उठाने, डंबल काम करने और अन्य एक्सरसाइज करने में भी मदद मिल सकती है।

दवाओं के सेवन से पहले, आपको एक डॉक्टर या नुत्रिशियन से परामर्श लेना चाहिए। वजन बढ़ाने के लिए दवाओं का सेवन करने से पहले आपके डॉक्टर द्वारा आपके स्वास्थ्य और वजन के बारे में जांच की जानी चाहिए, ताकि वे आपको सही दवा और खुराक बता सकें।

इसके अलावा, वजन बढ़ाने के लिए विभिन्न विटामिन और मिनरल सप्लीमेंट भी मौजूद हैं जो आपको उन्हें लेने की सलाह देने वाले डॉक्टर या नुत्रिशियन से परामर्श लेना चाहिए।

वजन क्यों कम होने लगता है (Why does the weight start decreasing in hindi) 

वजन कम होने के कई कारण हो सकते हैं। अधिकतर मामलों में, वजन कम होना उपयुक्त आहार और व्यायाम की कमी के कारण हो सकता है। अन्य कारणों में शामिल हैं:

1.मेटाबोलिक बाधाओं: कुछ लोगों के मेटाबोलिज्म में कमी होती है, जो उन्हें वजन कम करने के लिए ज्यादा कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है।

2.रोग या समस्याएं: कुछ रोग जैसे कि थायरॉइड, डायबिटीज, कैंसर, इत्यादि वजन कम करने के एक कारण हो सकते हैं।

3.दवाओं का सेवन: कुछ दवाओं का सेवन भी वजन कम होने का कारण बन सकता है।

4.तनाव: तनाव वजन कम करने का एक अहम कारण हो सकता है। तनाव के कारण, शरीर में रक्त चाप बढ़ जाता है और शरीर के अन्य कार्यों में भी असर पड़ता है, जिससे वजन कम होने लगता है।

इन सभी कारणों के अलावा, शरीर का वजन बढ़ना या कम होना भी आयु, जीवन शैली, आहार और व्यायाम जैसे कई अन्य फैक्टर्स पर निर्भर करता है।

निष्कर्ष(Conclusion)

तो दोस्तों या था आज का पोस्ट जिसमे आपको मैंने बताया की दुबले पतले शरीर को मोटा करने के लिए कौन कौन से नुक्सा अपनाना चाहिए । और मुझे पूरा उम्मीद है कि आपको ये जानकारी बहोत पसंद आयी होगी । और अगर आपका कोई सवाल है तो आप comment करके पूछ सकते है, मैं आपकी पूरी सहायता(help) करने की कोशिश करूँगा।

और आप लोग ये बताये की आप लोगो को इनमे से कौन सा नुक्सा आपको बहोत पसंद आया ।

और दुबले पतले शरीर को मोटा कर सकते हैँ आप  लोगों को ये जानकारी कैसी लगी अगर अच्छी लगी हो तो आप ये भी comment करके बता सकते है और साथ ही साथ आप इस आर्टिकल या पोस्ट को शेयर भी जरूर करे।

                            

                            धन्यवाद

 

Leave a Comment